भ्रमण (Travelling)

भ्रमण (Travelling)
भ्रमण (Travelling)

भ्रमण – निबंध हिंदी में 

उन स्थानों को देखने की लालसा, जो हमसे दूर हैं, सभी लोगों में उपस्थित रहती है. वे अपने घर की चहारदीवारी के अन्दर रहना नहीं चाहते. वे एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाना चाहते हैं. इस प्रकार एक देश से दूसरे देश और एक शहर से दूसरे शहर भ्रमण करना ‘यात्रा’ कहलाता है. 

परन्तु ऐसे भी आदमी हैं, जो घर ही पर रहना पसन्द करते हैं. वे कभी अपने घर को छोड़ना पसन्द नहीं करते. भारत के लोग बहुधा घर में ही रहना पसन्द करते हैं. शेक्सपीयर कहा करता था कि जो घर के अन्दर रहते हैं वे मूर्ख होते हैं. जो दूसरी जगह नहीं जा पाते हैं उसकी बुद्धि कम बढ़ती है.

लोग किसी उद्देश्य से भ्रमण करते हैं. कुछ लोग ऐतिहासिक स्थानों को देखने जाते हैं. कुछ लोग धार्मिक स्थान का दर्शन करने जाते हैं. ये लोग तीर्थयात्री कहलाते हैं. कुछ लोग स्वास्थ्यप्रद स्थानों में हवा बदलने जाते हैं. सौदागर लोग एक स्थान से दूसरे स्थान अपने सामान बेचने जाते हैं.

भ्रमण का बड़ा महत्त्व है. ये दूसरे देशों के रस्म-रिवाजों को जानने में सहायता देते हैं. भ्रमण में हमलोग झील, पहाड़ और नदी देखते हैं, जो इतिहास की किताबें और भूगोल की किताबें नहीं सिखा सकतीं. भ्रमण में हमलोग इंग्लैण्ड, अमेरिका, जर्मनी आदि देश जाते हैं. जब वहाँ से लौटते हैं तो वहाँ के लोगों तथा स्थानों के बारे में अपने देशवासियों से कहते हैं.

प्राचीन काल में कई यात्री भारत आए जहाँ विचित्र तरह की एक सभ्यता थी. मेगास्थनीज, ह्वेनसांग, फाह्यान यहाँ आये और यहाँ के लोगों का चरित्र देखकर बहुत आश्चर्यचकित हुए. उनलोगों ने भ्रमण का वर्णन किताबों में किया जिससे प्रेरणा मिलती है. रेलवे, पानी जहाज, हवाई जहाज के आविष्कारों ने यात्रा को अधिक आसान बना दिया है.

हमारे पूर्वज बाहर कम जाते थे. यदि जाते थे, तो लौटकर नहीं आते थे. वे या तो डाकुओं के द्वारा मारे जाते थे अथवा उन्हें जंगली जानवर खा जाते थे. आज हम हवाई जहाज पर उड़ सकते हैं. अब समुद्र पार के स्थानों में आसानी से जा सकते हैं.

इसे भी पढ़ें:

TRAVELLING – Essay in English

A desire to see the places which are far from us is present in most men. They do not like to remain within the four walls of their own home. They want to go from one place to another. This is going from one country to another or from one city to another is called travelling.

But there are people who are homesick. They never think of leaving their home. The Indians are mostly home-sick. Shakespeare used to say- “A home-grown youth has a homely wit.” Those who do not go to different places are mentally less developed.

People travel with certain aims. Some go to visit historical places. Some travel to see religious places. They are called pilgrims. Some go to health resorts for a change of climate. Merchants travel from one land to another region to make sales.

Travelling has got great value. It helps us to know the manners and customs of a country. We see lakes, mountains, rivers, buildings, etc. Books on History and Geography give us theoretical knowledge. But travelling can teach us things which books cannot. During travels, we see things with our own eyes and we become wiser. We go to England, America, Germany, etc. When we return from there, we tell about the people and places of those lands to our countrymen.

In ancient times travellers used to come to India which had a wonderful civilisation. Magasthenese, Hieuntsang and Fahien came here and were wonderstruck to see its people and their morality. They are a source of inspiration to people in every country.

Before the introduction of railways, steamers, aeroplanes, etc. people used to travel on foot or on boats or on bullock carts. But modern inventions have made travelling easier and more comfortable.

Our forefathers generally did not go out. But if they went out, they did not return. They were killed by robbers or were eaten up by wild beasts in the forests. Now we can fly in the air on aeroplanes and can cross oceans.

Conclusion

तो उम्मीद करता हूँ कि आपको हमारा यह निबंध (Essay) “भ्रमण (Travelling)” अच्छा लगा होगा. आप इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और हमें आप Facebook Page, Linkedin, Instagram, और Twitter पर follow कर सकते हैं जहाँ से आपको नए पोस्ट के बारे में पता सबसे पहले चलेगा. हमारे साथ बने रहने के लिए आपका धन्यावाद. जय हिन्द.

इसे भी पढ़े

  • विज्ञान का चमत्कार (Wonder Of Science)
    विज्ञान का चमत्कार एक विशाल और हमेशा विकसित होने वाला क्षेत्र है जिसने अनगिनत तरीकों से आधुनिक दुनिया को आकार दिया है.
  • कंप्यूटर (Computer)
    कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है जो साधारण गणनाओं से लेकर जटिल समस्या-समाधान, डेटा विश्लेषण और संचार तक कई प्रकार के कार्य कर सकती है.
  • तम्बाकू की बिक्री पर प्रतिबंध लगना चाहिए
    तम्बाकू एक व्यापक रूप से खाया जाने वाला उत्पाद है जिसे महत्वपूर्ण नकारात्मक स्वास्थ्य प्रभावों के लिए जाना जाता है.
  • क्या छात्रों को इंटरनेट तक सीमित पहुंच मिलनी चाहिए?
    इंटरनेट छात्रों के लिए एक आवश्यक उपकरण बन गया है, जो उन्हें जानकारी और संसाधनों की एक विस्तृत श्रृंखला तक पहुंच प्रदान करता है जो उनके सीखने के अनुभव को बढ़ा सकता है.
  • शिक्षा निःशुल्क होनी चाहिए
    शिक्षा एक मौलिक मानव अधिकार है और व्यक्तिगत और सामाजिक विकास के लिए आवश्यक है. यह व्यापक रूप से माना जाता है कि शिक्षा बेहतर भविष्य की कुंजी है.
  • शहरीकरण के कारण प्रदूषण
    शहरीकरण, लोगों के ग्रामीण क्षेत्रों से शहरों की ओर जाने की प्रक्रिया ने आर्थिक विकास और जीवन स्तर में सुधार के मामले में कई लाभ लाए हैं.
  • क्या प्लास्टिक पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए?
    प्लास्टिक एक ऐसा पदार्थ है जो हमारे दैनिक जीवन का अभिन्न अंग बन चुका है. इसका उपयोग उत्पादों की एक विस्तृत श्रृंखला में किया जाता है.
  • रेल यात्रा (Railway Journey)
    हमलोगों ने अखबारों में पढ़ा कि सन्त विनोबा भावे गया आयेंगे और भूदान का सन्देश देंगे. मैंने तीन मित्रों के साथ गया जाने तथा उनका भाषण सुनने का निश्चय किया.
  • भ्रमण (Travelling)
    एक देश से दूसरे देश और एक शहर से दूसरे शहर भ्रमण करना ‘यात्रा’ कहलाता है.
  • ग्राम-पंचायत (The Village-Panchayat)
    हिन्दू राज्यकाल में ग्राम पंचायत के कार्य गाँवों में होते थे. पहले यहाँ बड़े बड़े नगर और बाजार नहीं थे. गाँववासी बड़े आनन्द से रहते थे.

Leave a Reply

%d bloggers like this: