पत्थर की आवाज़ – Michelangelo Short Story In Hindi – 2020

Michelangelo Short Story In Hindi
Michelangelo Short Story In Hindi

नमस्कार दोस्तों! आज मैं आपके सामने माइकल एंजेलो (Michelangelo) के जीवन से एक छोटी सी कहानी  बताने जा रहा हूँ।

वैसे तो आप माइकल एंजेलो को जरुर जानते होंगे। अगर आपको नहीं पता है तो मैं उनके बारे में कुछ-कुछ बता देता हूँ, लेकिन इस ब्लॉग में मैं आपको उनके बारे में बहुत कम ही बताऊंगा।

माइकल एंजेलो (Michelangelo) का पूरा नाम Michelangelo di Lodovico Buonarroti Simoni है। ये इटली के रहने वाले थे और वे चित्रकला में में बहुत माहिर थें।

माइकल एंजेलो (Michelangelo) पेंटिंग, मूर्तिकला और संरचना के क्षेत्र में कई काम दुनिया की सबसे प्रसिद्ध रचनाओं में गिने जाते हैं। 

तो ये कहानी जिसका नाम पत्थर की आवाज़ – Michelangelo Short Story In Hindi है ये माइकल एंजेलो (Michelangelo) के जीवन पर ही लिखी गयी है। 

Michelangelo Short Story In Hindi
Michelangelo Short Story In Hindi

Michelangelo Short Story In Hindi: एक समय की बात है, एक पत्थर की दुकान के आगे से माइकल एंजेलो (Michelangelo) गुज़र रहे थे। उन्होंने उस दुकान के बाहर एक अनगढ़ सा संगमरमर का एक टुकरा परा देखा।

तो माइकल ने दुकानदार से पूछा, “मैं इस पत्थर को खरीदना चाहता हूँ।” तो दुकानदार ने माइकल से कहा, “तुम इसे ऐसे ही ले जाओ, बेकार में यह जगह घेर रहा है”। 

इसके कई सालों बाद माइकल  एंजेलो ने उस दुकानदार को अपने घर पर बुलाया और उस दुकानदार से उन्होंने कहा कि, “मैंने एक मूर्ति बनाई है। कृपया आप आकर उसे देखें।”

तो एक दिन दुकानदार माइकल के घर आकर जब उस मूर्ति को देखा, तो वो दंग रह गया। उसने देखा कि मरीयम की गोद में सलीब से उतारे जीसस। आवक रह गया वह। इतनी ख़ूबसूरत मूर्ति उसने कभी कहीं देखी ही नहीं थी। 

उसने माइकल से कहा, “ऐसा पत्थर तुम्हें कहाँ से मिला?” तो माइकल ने हंसते हुए उससे कहा, “ये वही पत्थर हैं जो आपने मुझे इसे बेकार समझ कर दी थी।”

तो दुकानदार ने बहुत ही आश्चर्य से पूछा, “उस बेहुदे और बेकार पत्थर से कोई भी ऐसी मूर्ति कैसे बन सकती है?”

तो माइकल ने उससे बहुत ही शांति से कहा, “मैं तो रास्ते से गुज़र रहा था। जीसस ने इस पत्थर से मुझे आवाज़ दी कि मुझे इसमें से निकालो। मैंने तो बस उनकी बात मानी और मैंने जीसस को इस पत्थर में से निकाल लिया।

विशेष धन्यवाद (Special Thanks):

Michelangelo Short Story In Hindiइस कहानी को रितेश कुमार सिंहा जी ने शेयर किया है। हमारी टीम इनका दिल से शुक्रया अदा करती है जो इन्होने इतनी अच्छी कहानी को हमारी टीम के साथ शेयर किया।

इनका फेसबुक पर अकाउंट है जिसमें इनका नाम Ritesh Kumar Sinha (Click Here)है। आपलोग भी जाकर उनके उत्साह को बाधा सकते हैं।

तो दोस्तों आपको ये कहानी कैसी लगी? आप हमें कमेंट बॉक्स में बताएं और रितेश जी को भी बतायें। कमेंट बॉक्स आपको पोस्ट के लास्ट में मिलेगा।

References:

Link: Wikipedia – Michelangelo

Image: Pixabay – (Click Here)

पत्थर की आवाज़ – Michelangelo Short Story In Hindi


इसी तरह के कहानियां पढने के लिए आप मेरे साईट को फॉलो कर सकते हैं। अगर आपको हमारी कहानियां अच्छी लगती है तो आप शेयर भी कर सकते हैं और अगर कोई कमी रह जाती है तो आप हमें कमेंट करके भी बता सकते हैं। हमारी कोशिस रहेगी कि अगली बार हम उस कमी को दूर कर सकें। (पत्थर की आवाज़ – Michelangelo Short Story In Hindi)

-धन्यवाद 

Read More Stories: (पत्थर की आवाज़)

Follow Me On Social Media:
Share My Post: (पत्थर की आवाज़ – Michelangelo Short Story In Hindi)

4 Comments

Leave a Reply

%d bloggers like this: